home Hindi Quote Of The Day , Quote Of The Day In English, Uplifting Quotes, Website Quotes आपको धागे से बाँध दू तो आप भाग नही पाओगे

आपको धागे से बाँध दू तो आप भाग नही पाओगे

Quote of the day in English

जी हाँ आपने बिलकुल सही पढ़ा और इसमें कोई अतिश्योक्ति वाली बात नही कह रहा हु मैं. आपको अगर मैं धागे से बांध दू तो आप नाम मात्र भी नही हिल पाओगे. और ये धागा वही simple धागा है जिस से हम अपने शर्ट में बटन लगाते है.

 

समझ सकता हु आप उतावले हो रहे होंगे ये जानने के लिए तो आइये देखे कैसे?

 

इसको सीधे तौर पे समझने से बेहतर होगा की किसी आसान से उदाहरण से समझा जाए. आइये एक कहानी सुनाता हु आपको.

Quote of the day in English

एक महावत (जो हाथियों की देखभाल करता है) अपने हाथियों की देखभाल कर रहा था. मैं वही से गुजर रहा था जब मैंने देखा महावत अपने कार्य में एकदम प्रशन्नतापूर्वक संलग्न था.

तभी मैं क्या देखता हु, जब मैं हाथियों के बगल से गुजरा तो हाथियों को बहुत ही नाजुक सी रस्सियों में बंधा हुवा पाया. मुझे बहुत अजीब सा लगा के इतना विशालकाय जानवर और इतने पतली से रस्सी से बंधा हुवा है.

 

मुझे लगा इससे पहले कोई अनहोनी हो जाए या आम जानता को कोई नुकसान हो, तुरंत महावत को सूचित करना चाहिए.

मैं महावत के पास गया और उस से पूछा, “भाई इतने बड़े जानवर को इतने पतले रस्सी से बांध के रखना कहा तक उचित है, अगर ये रस्सी तोड़ आस पास के इलाके में तोड़ फोड़ करे तो इसका जिम्मेदार कौन होगा?”

 

महावत बोला ऐसा कुछ भी नही होगा भाईशाहब.

मैंने फिर कहा, कोई पिंजरा, ऊँची दीवाल या मजबूत रस्सी कुछ भी तो नही है फिर इतने पतले रस्सी को तो मैं स्वयं तोड़ सकता हु और ये हाथो तो मुझसे कई गुना ताकतवर है.

 

महावत मेरी ये बात सुन उठ खड़ा हुवा और धीमे कदमो से मेरी तरफ बढ़ा. पास आकर वो इत्मीनान से कहने लगा.

मैं बचपन से ही हाथियों के साथ रहा हु, उनका पालन पोषण करना हमारा पुस्तैनी काम है. ये हाथिया जब पैदा हुए थे तो इन्ही पतले रस्सी से बांधे जाते थे.

 

इन्होने बचपन में बहुत प्रयास किया इन रस्सियों को तोड़ने का लेकिन कभी सफल नही हुए. अब ये उम्र में बड़े हो चुके है और रस्सिया वही पुरानी पतली वाली ही है और पहले से भी कमजोर.

अब इन हाथियों ने ये मान लिया है के ये रस्सिया इनसे नही टूटने वाली इसलिए ये अब कोई प्रयास भी नही करते. इनको यकीन हो चूका है के रस्सिया इनके आत्मबल और आत्मविश्वास से कही मजबूत है इसलिए ये इन्हें कभी तोड़ने का सोच भी नही सकते.

 

मुझ ये सब देखकर और सुनकर बहुत अचरज लग रहा था जैसे सायद अभी आपको लग रहा हो. मैं बहुत आश्चर्यचकित था के कैसे बिना प्रयास किये ऐसे विशालकाय और मजबूत प्राणी हार मान चूका है जो मजबूत चट्टानों से लोहा ले सकने में माहिर हो.

इन हाथियों के तरह हम में से कितने लोग ऐसी कमजोर रस्सियों से बंधे रहते है? कुछ एक बार असफल हो जाने मात्र से हम अपने अन्दर के उस प्रतिभा को ख़त्म कर देते है और कमजोर धागों को न तोड़ पाने का अवुगुण पाल लेते है. आप वाकई एक पतले धागे को तोड़ने के काबिल नही होंगे एक बार आप हार मान लिए तो.

 

यकीन मानिये मित्रों एक बार असफल होने मात्र से जीवन में कोई परिवर्तन नही आना चाहिए. अगर आप एकदम हार जायेंगे तो एक पतला धागा भी आपको एक मजबूत चट्टान की तरह लगेगा.

मित्रो, असफल होना भी एक तरह का अच्छा गुण होता है क्युकी इस से आप अपने अन्दर की कमिया खोज सकते है. और इन कमियों को दूर कर के आप अपने अन्दर के उस प्रतिभा के माध्यम से जीवन में सफलता का स्वाद चख सकते है.

 

एक अंग्रेजी की कहावत है,

Quote of the day in English: “Failure is part of Learning”.

good quote

मेरा मानना है की:

“Meet the failure before you want to success, It will manifold the successful person in you.”

Hindi quote of the day

Hindi Meaning: “सफलता से पहले असफलता से मिलो, ये आपके अन्दर के सफल पुरुस को कई गुना निखार देगा.”

 

इस कहानी से हमें यह सिख मिलती है की हमें जीवन में कभी भी हार नही मानना चाहिए. रात चाहे कितनी भी काली क्यू ना हो, कितनी बिजलिया ना गीरा ले अगली सुबह एक खुशनुमा संगीत के साथ आपका स्वागत करने के लिए तैयार है. जरुरत है तो इसका अभिनंदन करने के लिए तैयार रहने के लिए.

 

मित्रो यह कहानी आपको कैसे लगी, जरुर बताये, अगर आपके जीवन में ऐसी कोई दुविधा हो या आप निराश हो तो हमसे संपर्क कर सकते है. आपकी निजी जानकारी बिना साझा किये हम आपकी परेशानी का समाधान बताएँगे.

आप अपनी story भी हमसे share कर सकते है, बस हमें आपका स्नेह मिलता रहे.

Facebook Comments

5 thoughts on “आपको धागे से बाँध दू तो आप भाग नही पाओगे

  1. shandaar ..maza aa gaya sir…kitana gyan vardhak topics pr aapne ye article likha hai sir… aur mujhe lagata hai sir is tarha ki site internet pr nahi hogi jo roj is tarha ka gyan de …
    I am following this site since twodays … My father is big fan of this site

    Thanks to you and your team

  2. राजू जी, सबसे पहले आपका बहुत आभार जो आप लोगो के प्रेम व् कुछ सब्दो से मुझे हौसला मिलता है.
    आपके पिताजी को मेरा प्रणाम कहियेगा और मैं चाहूंगा कुछ उनके लायक भी पोस्ट डालू.
    हमारी website की बड़ाई करना आपका बड़प्पन भी है वैसे हमारा मकसद भी website पर अच्छे ज्ञान भरे और motivational लेख लिखने का है.
    हमसे जुड़े रहने के लिए धन्यवाद.

  3. धन्यवाद चन्दन जी.
    आपके कुछ सब्द मात्र से बहुत हौसला मिलता है ऐसे ही कुछ और अच्छे लेख लिखने को.

    आभार!

  4. Hello sir,
    I am big fan of yours.
    I read each of the article you post everyday. It helps me to rejuvenate and live each day of my life like it lasts any seconds
    It increased confidence in me and I am down much better at my schooling.
    Thank you Manish sir.

  5. Manish ji aapne is article se hame apni kamjori aour taakat ka ahsas karaya iske liye Mai apka shukriya Ada karti Hu. Mai medical entrance me do bar unsuccess Ho kar apna career shift karne wali thi lekin ab aisa lagta hai Ki apke inspirational thoughts se mujhe try karna chahiye jab tak success na mil jaye …. Thanks again. Keep posting such nice articles…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *