home Inspirational Stories सुनील मित्तल के सफलता की अनोखी कहानी: an inspirational stories

सुनील मित्तल के सफलता की अनोखी कहानी: an inspirational stories

सुनील मित्तल अपने consignments के साथ खुद ही ट्रक में बैठ कर जाना पसंद करते थे इससे उनके journey के पैसे भी बच जाते थे. या यु कहे के उनके पास हवाई जहाज में बैठने के पैसे नही हुवा करते थे.

एक राजनितिक परिवार से रिश्ता रखने वाले सुनील मित्तल, अपने पिता सतपाल मित्तल के दुसरे बेटे थे. सतपाल मित्तल ने उस समय Indian congress पार्टी join कर रखा था.

 

सुनील मित्तल ने बचपन से ही अपना business करने का पक्का इरादा बना रखा था. अर्थशास्त्र और राजनितिक विज्ञान से Punjab University से graduation करने के तुरंत बाद सिर्फ 18 वर्ष की उम्र में इन्होने business चालू किया.

लुधियाना पंजाब का एक ऐसा शहर है जहा सबसे ज्यादा पंजाबी business में ही जाना चाहते है. हर एक युवक का सपना अपना emperor खड़ा करना और इसे उचाईयों तक ले जाना था.

 

सुनील ने अपने पिता से 20,000 उधार लिए और उससे साइकिल के parts बनाने का unit डाला. थोड़ी बहुत ही सफलता के बाद मित्तल ने दो और unit खोल दी. एक unit, stainless steel के चद्दर (sheets) बनाने की और दूसरी unit धागा बनाने की डाल दी.

मित्तल अपने सामान को लाने और ले जाने खुद ही जाया करते थे, कम दूरी के लिए ट्रक और ज्यादा दूरी के लिए ट्रेन के इस्तेमाल करते थे क्युकी हवाई जहाज का किराया भरने के लिए उनके पास इतने पैसे नही हुवा करते थे.

Inspirational Stories

सुनील मित्तल रोज 16-18 घंटे काम करते थे और जरुरत पड़े तो शहर के बाहर कभी गए तो सस्ते होटलों में ही रुकना पसंद करते थे.

लुधियाना के बाहर अपना business बढाने के लिए उन्हें अक्सर बाहर जाना पड़ता था लेकिन बाकी खर्चे ज्यादा होने से इन्हें कुछ ज्यादा फायदा नही हो रहा था.

 

किसी बड़े steel sheets के customer की तलाश में, मित्तल अक्सर मुंबई जाया करते थे. अब्दुल रहमान के  गलियों में हमेशा वो एक छोटे से स्टूल पर बैठ अपने ग्राहकों को लुभाने के लिए अपना offer सुनाया करते थे. सड़क पर खड़े होकर लोगो को deal के लिए राजी करना, मित्तल के अन्दर के salesman को जगा दिया.

 

सुनील मित्तल ने 2005 में interview के दौरान बताया, “मैंने हर वो तरकीब अपनाई जो मुझे नए partners या नए clients से जुड़ने में मदद करता, अब चाहे वो bank manager हो या विदेशी client, मैं बहुत आसानी से अपना credit उनसे बना लिया करता था.”

1980 में सुनील ने लुधियाना के अपने cycle parts और steel sheets unit को बेच मुंबई में अपना business setup करने का सोचा. लेकिन यहाँ खर्चे बढ़ जाने से business इनके मन मुताबिक नही चला.

सुनील मित्तल की Inspirational Stories यही ख़त्म नही होने वाली थी.

 

काफी निराश हो चुके सुनील को अचानक एक बार New Delhi में Bengali market के street food के पास  इनकी मुलाकात Suzuki’s generator के salesman से हुई जो Japan से India, dealers की तलाश में आया था.
Suzuki company को लगा के India में ice-cream shops और hot dog van पे generator की अच्छी डिमांड होगीलेकिन यहाँ उन्हें ऐसा कुछ भी नही दिखा.

Inspirational Stories

पूरी तरह उम्मीदों से हारे उस salesman, जो कि खाली हाथ वापिस जाने वाला था, Sunil Mittal ने एक offer दिया. सुनील को लगा छोटे ऑफिस और दूकाने इसे बड़े आराम से ले लेंगी. बस फिर देर क्या था, Suzuki ने मित्तल को अपना पहला डीलर बनने का फैसला किया.

उम्मीद से कही ज्यादा लोगो ने इसे पसंद किया और जल्द ही पुरे India में सुनील मित्तल ने इसे बेचना start कर दिया.

सरकार के नजरों में आते ही सरकार ने इसे license के तहत बेचने का फैसला किया.

 

1983 में, सरकार ने 2 license जारी किये, एक बिरला family को और दूसरा श्रीराम family को. बिरला ने Yamaha के साथ plant लगाया और श्रीराम ने Honda के साथ अपना plant लगाया.

मित्तल का business पूरी तरह बर्बाद हो गया. जिस इंसान ने ये concept लाया वही आज पूरी तरह डूब चूका था.

 

हालाकि Suzuki company ने मित्तल के अन्दर की प्रतिभा समझ ली थी, उन्होंने अपनी नई कार Maruti 800 का dealer बनाने और India में marketing का जिम्मा  Sunil Mittal को सौंपा.

आप भी समझ गए होंगे किस तरह यह कार पुरे India में तहलका मचाई. Maruti 800 ने पुरे कार बाजार में क्रांति ला दी थी.

 

आपको जान यह बहुत हैरानी होगी के अब दूसरी बार फिर सरकार ने अपने राजनितिक फायदे के लिए सिर्फ अपने खाश लोगो को ही dealership allow किया जिसे Suzuki company का मानना ही पड़ा.

अपने ही देश में इस तरह से दोतरफा व्यवहार झेल रहे सुनील ने हिम्मत नही हारी और विदेश में जाकर काम करने का फैसला किया. इस बार कुछ बड़ा और भूचाल था उनके दिमाग में.

 

Sunil Mittal ने Taiwan जाकर वहा trade fair में सीखना चालू किया. उन्होंने देखा के यहाँ तो Click करने वाले button के फोन चल रहे है जबकि India में उस समय नंबर में ऊँगली डाल के घुमाने वाले फ़ोन चल रहे थे.

सुनील ने इस अवसर को पूरी तरह अपनाने का फैसला किया. वापिस भारत आने से पहले उन्होंने Taiwan की एक company को अपना supplier बनाया.

 

चूँकि सरकार के ध्यान में ये चीज नही थी, सुनील को ये बहुत बढ़िया plan लगा. उन्होंने इन फोन के parts मंगवा कर उसको लुधियाना में assemble करने का काम चालू किया.

इस बार मित्तल के इस idea को सरकार ने सर आँखों पर रखा और 52 license जारी करते हुए मित्तल को भी license दिया.

Inspirational Stories

सुनील मित्तल ने बिना कोई पल गंवाए, तुरंत अपना ब्रांड फ़ोन, “Beetal” लांच किया. और उन्होंने कुछ और तकनीक को जोड़ते हुए EPABX’s और fax machine लांच की.

सन 1990 आते आते, सुनील मित्तल हर साल 250 million INR कमाना चालू कर चुके थे.

 

जल्द ही इनके एक और idea को सरकार ने अपनाया और telephone को public sector में launching के news पढ़ते ही मित्तल ने फटाफट अपना BID डाला.

आगे बताने की जरुरत नही के भारती AIRTEL ने कितने कम समय में पुरे market पर कब्ज़ा कर लिया.

 

बहुत ही कम समय में AIRTEL, 200 million customers के साथ number 1 कंपनी बन गयी. बहुत जल्द मित्तल पुरे भारत में famous हो गए. January 2015 तक,उनकी कुल सम्पति 944.36 billion INR था.

सुनील मित्तल की प्रतिभा अब sunil mittal son, Kavin Bharti Mittal में भी देखने को मिल रही है. Rising Enterpreneur 2016 में उन्हें mobile app Hike के लिए award भी मिल चूका है.

अपने नए सोच और विचारों के चलते sunil mittal son, Kavin Bharti Mittal आये दिन चर्चा में बने रहते है.

 

जिस तरह सुनील मित्तल के साथ किस्मत ने खेला, मित्रों इतना शायद ही किसी के साथ हुवा हो. लेकिन कहते है ना, जिसका हौसला फौलाद का हो और जिसके दिमाग में नए विचारों पर गौर करने का जज्बा हो, सफलता उसके कदमो को चूमकर खुद को भाग्यवान समझती है.

हमें अवश्य बताये के सुनील मित्तल की ये Inspirational Stories आपको कैसे लगी. आप अपनी भी कोई Inspirational Stories हो हमसे आप साझा कर सकते है.

आप धीरुभाई अम्बानी की Inspirational Stories पढने के लिए यहाँ क्लिक करे. Inspirational Story on Dhirubhai Ambani

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *