home Hindi Quote Of The Day  धैर्य की आवश्यकता

धैर्य की आवश्यकता

patien2 किसी भी कार्य को करने के तुरंत बाद परिणाम के बारे ध्यान नहीं देना चाहिए | हम लोगो के अंदर सबसे बड़ी कमी क्या है की हम हर चीज एक्सेल शीट में फोर्मुले की तरह रिजल्ट की कामना करते है जैसे अगर इनपुट परिवर्तन किया तुरंत आउट पुट वाले कॉलम में रिजल्ट परिवर्तन हो जाता है |

 

दरअसल असल जिंदगी में ये एक फोर्मुले की तरह नहीं होती है इस बात को हम इस तरह भी समझ सकते है की जैसे किसी बाल को जमीन पर मारते है तो बो इस बात पर डिपेंड कराती है की ज़मीन कैसी है मतलब कितनी हार्ड है अगर हार्ड सरफेस पर बाल मारेंगे तो रिएक्शन तुरंत मिलेगा और उससे कम पर मारेंगे तो उसकी एनर्जी को ज़मीन कुछ ऐब्जोर्ब कर लेती है जिससे वो उस स्पीड से वापस नहीं आती अर्थात कुछ देरी होती है |

 

ठीक इसी तरह हमारे जीवन में कंडीशन अलग अलग रहती है तो उसी के परिणामस्वरुप रिजल्ट भी उसी के अकोर्डिंग होता है | अगर हमे अच्छे रिजल्ट चाहिए तो निश्चय ही आप को एक अच्छा धैर्यवान होने की जरुरत पड़ेगी | जिसको कुछ उदाहरण से समझा जा सकता है|

Hindi Quote Of The Day

सिविल की परीक्षा में धैर्य की आवश्यकता

exam

 

 

 

 

उपरोक्त को और सिंपल तरीके से समझने का प्रयास करते है जैसे एक लड़का सिविल की तैयारी करता है और वो बहुत मेहनत करता है फिर भी उसको सफलता नहीं मिलती है | तो इसका मतलब ये नहीं की उसको अब उस एग्जाम के बारे में तैयारी करना छोड़ देना चाहिए |

असली पेशेंस इन एग्जाम देने वालो से पता चलता है | कुछ लोग अपने एग्जाम देने के लास्ट एटेम्पट में चौका मार कर दिखा देते है की वो कितने संघर्षशील है |

 

क्रिकेट के मैदान में धैर्य की आवश्यकता :

 

हम लोग बचपन में जब क्रिकेट खेला करते थे तो बिना कीसी तनाव के अपना नेचुरल गेम खेलते थे भले ही जीरो रन बना कर आउट हो जाये | लेकिन जब कभी किसी से मैच लेते थे और उसमे किसी सामान का दाव लगता था तो हम लोग अपना नेचुरल गेम खेलने में थोडा दिक्कत होता था |

ठीक इसी प्रकार जब इंडियन टीम किसी इंटरनेशनल टीम से मैच खेलती है और स्टेडियम जब खचाखच भरा होता है तो बैटिंग , बोलिंग, फील्डिंग सब को मैनेज करते हुए खेलना ही सबसे बड़ा धेर्य है.

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *