home Motivational Captions आप सही और गलत का फैसला कैसे करते है?

आप सही और गलत का फैसला कैसे करते है?

जीवन में क्या सही है और क्या गलत इसका फैसला करना वाकई बहुत मुश्किल है. इसको सोचने के बहुत सारे तरीके भी हो सकते है और यह निर्भर करता है कि हम किन परिस्थितियों के बीच ऐसा सोचते है. अगर हमारे साथ सब कुछ अच्छा होता है तो हमरे मन मष्तिष्क में motivational captions सब कुछ positive ही सोचने को मजबूर हो जाता है.

सही गलत का फैसला जिसे नही है वह भी इसके बहुत सारे पर्याय निकालने में व्यस्त होगा. आइये ऐसे ही एक बहुत ज्ञानवर्धक कहानी से रूबरू होते है.

 

जापान में एक बार बहुत सारे college के students सप्ताहांत meditation करने के लिए एक बहुत ही उच्च दर्जे के गुरु के पास गए. विभिन्न शहरो से बहुत सारे विद्यार्थियों के रहने सोने, खाने पिने हर चीज की व्यवस्था उसी जगह होती थी.

इन्ही में से एक विद्यार्थी ने एक दिन चोरी करते पकड़ा गया. जब बाकी विद्यार्थी उस चोर विद्यार्थी को लेकर गुरूजी के पास पहुंचे तो गुरूजी ने तत्काल उसे छोड़ने और इस बात को किसी अन्य को ना बताने को कहा.

 

अगले सुबह वही चोर विद्यार्थी फिर से चोरी करते पकड़ा गया. उसे सभी विद्यार्थियों ने मिलकर गुरूजी के पास ले जाना उचित समझा. गुरूजी ने उस विद्यार्थी को दुबारा देखा और पिछली बार की तरह तुरंत उसे छोड़ने को कहा. विद्यार्थियों ने उसे वहा से निकाले जाने की मांग की जिसे गुरूजी ने ignore करते हुए, वहा से उठ कर चले गए.

सभी विद्यार्थी गुरूजी के इस तरह उस चोर के समर्थन को देख बहुत नाराज हुए और वहा के संस्थापक से मिलकर गुरूजी के कृत्य की जानकारी दी.

motivational captions

सभी अधिकारी गुरूजी के पास पहुंचे और उनसे उस चोर विद्यार्थी को बाहर भेजने का निवेदन करने लगे. गुरूजी ने उन्हें यह कह कर भेज दिया के वो सभी विद्यार्थियों से पहले बात करना चाहते है.

मिलने से भला किसको ऐतराज था, सभी विद्यार्थी गुरूजी से मिलने को तैयार हो गए. सब एक जुट होकर गुरूजी के पास पहुंचे.

 

गुरूजी ने कहा, “मेरे बच्चो, तुम सब बुध्हिमान हो. तुम्हे सही और गलत में फर्क करने आता है. तुम्हे मैंने meditation नही सिखाया तो कोई और सिखा देगा. लेकिन इस विद्यार्थी को नही मालुम की जो वो कर रहा है वो सही है या गलत. और अगर इसे पता होता फिर ऐसी गलती करता ही क्यों?”

उन्होंने आगे कहा, “अगर इसे मैं नही सिखाया फिर इसे कौन सिखाएगा? मैं इसे सही गलत में फैसला करने का बोध सिखा कर रहूँगा चाहे आप सभी यहाँ से जाना चाहो तो जा सकते हो.”

 

वही पास में खड़ा वो लड़का यह सारी बात सुन रहा था. अचानक ही उसकी आँखों से आंशु छलक पड़े. चोरी करने का इरादा तो मानो उसके दिलो दिमाग से कब का जा चूका था.

उसने बिना समय गवाए बाकि सभी विद्यार्थियों से अपने चोरी के लिए माफ़ी मांगी.

 

इस motivational captions से हमें यह सिख मिलती है कि अगर कोई कुछ गलत कर रहा हो तो हमें गहराई तक जाकर सोचना चाहिए की वो गलत क्यू कर रहा है और कोशिश करनी चाहिए के उसे सही रास्ते पर लाया जा सके. हमें साथ ही साथ उस इंसान को थोडा वक़्त देना चाहिए जिस से वह स्वयं तय कर सके की उसके लिए क्या सही है और क्या गलत?

हमारी motivational captions कैसी लगी हमें अवश्य बताये. आप हमें likes या comments के माध्यम से जुड़ सकते है. यह हमारा हौसला बढाता है जिससे हम और भी अच्छे motivational captions आपको देते रहेंगे.

 

Facebook Comments
TAGS:

Manish M.

An online entrepreneur, WordPress enthusiast, SEO expert and full time blogger.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *