home Quotes Of Chanakya आखिर कौन थे चाणक्य? आइये जाने चाणक्य की पूरी कहानी

आखिर कौन थे चाणक्य? आइये जाने चाणक्य की पूरी कहानी

चाणक्य एक महान शिक्षक, अर्थशास्त्री और राजनितिक गुरु थे. चाणक्य ने मौर्य वंश की स्थापना में अपना अहम role अदा किया था.

चाणक्य को बहुत सारे नामो से जाना जाता है जिसमे चाणक्य ही सबसे popular नाम है लेकिन उन्हें कौटिल्य और विष्णुगुप्त दो अन्य नामो से भी जाना जाता है. ज्यादातर इतिहासकारों का मानना है की चाणक्य का जन्म 350 BC में हुवा था.

इनकी माता का नाम कानेस्वरी और पिता का नाम चनक था. चाणक्य का नाम इनके पिता के नाम से बना था. ज्यादातर लोगो का मानना है की चाणक्य का जन्म तक्षशिला (आधुनिक Taxila, Pakistan) में हुवा था वही कुछ अन्य इतिहासकारों का मानना है की चाणक्य दक्षिण भारत में जन्मे थे.

 

बहुत लोगों को चाणक्य के वास्तविकता पर भी संदेह होता है और उन्हें चाणक्य की सारी बातें मनगढ़ंत जैसे लगती है. चाणक्य जाति से ब्राह्मण थे और इन्होने अपनी शिक्षा दीक्षा प्राचीन तक्षशिला विश्वविद्यालय से ग्रहण की थी. बाद में इन्होने वहा शिक्षक के रूप में कार्य भी किया था.

 

हालाँकि वो जाति से ब्राह्मण थे लेकिन उनमे एक राजा की सारी खूबियाँ भरी पड़ी थी. दिखने में वो जरुर बदसूरत थे लेकिन दिमाग से उतने ही अक्लमंद और उनके Quotes of Chanakya उस से भी महान थे. इसे आप ऐसे भी समझ सकते है की जो राजनितिक सूजबुझ उन्होंने इतने प्राचीन समय में जो दिखाई उसे हम आज भी सीख कर आगे बढ़ रहे है.

 

उस समय मगध के राजा धनानंद के काल में चाणक्य उनके राजनितिक सलाहकार के रूप में काम कर रहे थे. एक दिन अचानक राजा धनानंद ने चाणक्य की सबके सामने बेइज्जती की और धक्के दे कर बाहर फेक दिया. धनानंद स्वभाव से ऐय्यास, भोग विलासिता में डूबे रहने वाला राजा था. चाणक्य को समझते देर नही लगी की अब मगध एक असमंजस की स्तिथि में आ गया है जिसका राजा सत्ता के नशे में जल्द इसे बर्बाद कर देगा.

 

 

चाणक्य ने राजमहल में हुई अपनी बेइज्जती का बदला लेने और एक सच्चे और अच्छे राजा की तलाश शुरू कर दी. उनकी खोज जल्द ही चन्द्रगुप्त मौर्य से मिलकर ख़त्म हुई. चन्द्रगुप्त मौर्य उस समय 12-13 साल के थे जब वो चाणक्य से पहली बार मिले थे. दूरदृष्टी वाले चाणक्य ने उस बालक के अन्दर मगध के महान राजा की पहचान तुरंत कर ली.

चाणक्य ने उस बालक को अपने शिक्षा दीक्षा में लिया और राजकाज के तरीके और युद्धनीतियों का ज्ञान दिया. चन्द्रगुप्त को मजबूत योध्हा बनाने में चाणक्य में मुख्य भूमिका निभाई और देखते ही देखते चन्द्रगुप्त एक दिन चाणक्य के नीतियों के साथ नन्द वंश का विनाश कर मौर्य वंश की स्थापना की.

 

चन्द्रगुप्त, चाणक्य की बहुत इज्जत करते थे और अपने पिता के रूप में उन्हें देखा करते थे. जल्द ही दोनों की सूझबुझ से मौर्य वंश एक विशाल साम्राज्य में बदल गया. चाणक्य मौर्य वंश में प्रधानमंत्री के पद पर आसीन चाद्रगुप्त् को अहम् फैसले लेने में मदद किया करते थे.

Quotes of Chanakya

बाद में चन्द्रगुप्त मौर्य ने अपने पुत्र बिन्दुसार को राजा का सिंघासन दिया और चाणक्य प्रधानमन्त्री बने रहे. इस दौरान चाणक्य ने चाणक्य नीति और अर्थशास्त्र नमक 2 पुस्तकों को लिखा. अर्थशास्त्र economics पर लिखी गयी किताब थी जिसके महत्वपूर्ण points, Quotes of Chanakya आज भी अपनाये जाते है.

 

चाणक्य ने राजा चन्द्रगुप्त से जो भी बातें कही या सिखाई उन्होंने अपनी किताब अर्थशास्त्र में उन्ही बातों का उल्लेख किया है. इस किताब में सुरक्षा से लेकर समाज सेवा तक सारी बातें लिखी हुई है. किताब में अर्थशास्त्र, राजकाज आदि पर विशेष निर्देश दिए हुए है.

 

Quotes of Chanakya

वही चाणक्य नीति जीवन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे राजकाज, पढाई, सबंधो, जाति, धर्म आदि पर लिखे गए कुछ विशेष तथ्यों या सूत्रों (Quotes of Chanakya) से आपको उत्कृष्ट कृत करने को बताया गया है. चाणक्यनीति में जीवन के हर पहलु के लिए कुल 455 सूत्र (Quotes of Chanakya) लिखे हुए है जो ज्ञान, राजनीति, राजकाज और विभिन्न क्षेत्रों में हमें अच्छा करने को प्रेरित करते है.

 

चाणक्य की मृत्यु 283 BC में हुई थी. उनकी मृत्यु को लेकर बहुत सारी कहानिया मौजूद है. कोई कहता है की उन्होंने अपने कार्य से सेवानिर्वित होने की बाद जंगल में जाकर आपने प्राण त्यागे तो दूसरी कहानी कहती है की बिन्दुसार के शासनकाल के मंत्री सुबंधु के चलते उनकी मौत हुई.

 

चाणक्य पर बहुत सारी फिल्मे व् TV Serials बने हुए है जिन्हें दर्शको ने जमकर सराहा और पसंद किया. इनकी किताबें विदेशो में विभिन्न भाषाओँ में लिखी गयी और प्रकाशित हुई है. भारत में भी चाणक्य के जीवनी के ऊपर बहुत सारे लेखको और इतिहासकारों से किताबें लिखी है.

 

आशा करता हु चाणक्य की biography और Quotes of Chanakya आपको पसंद आई होगी, ऐसे ही भारतवर्ष के कुछ महान लोगो के बारे में हम आप तक जानकारी पहुंचाते रहेंगे.

Facebook Comments
TAGS:

Manish M.

An online entrepreneur, WordPress enthusiast, SEO expert and full time blogger.

One thought on “आखिर कौन थे चाणक्य? आइये जाने चाणक्य की पूरी कहानी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *